हमारे बारे में

सोशल मीडिया के दौर में अभिव्यक्ति के लिए प्लेटफॉर्म कम नहीं है लेकिन फिर भी कुछ कमी सी तो है। हम सबके पास विचार हैं लेकिन प्लेटफॉर्म नहीं हैं। प्लेटफॉर्म हैं भी तो वह कथित लेफ्ट और राइट में बंटे हैं। क्या कोई ऐसी जगह हो सकती है जहां किसी को विचार रखने के लिए अपनी विचारधारा न छिपानी पड़े और खुलकर मन की बात लिख सके?

व्यूज़ वॉल आपके जज़्बातों की दीवार के कहीं ज़्यादा है। यह एक ऐसा चबूतरा है जहां वामी, कांगी, भगवा, हरा आकर बैठे और अपने मन की बात कहे। अभिव्यक्ति की इतनी आज़ादी तो होनी ही चाहिए। व्यूज़ वॉल पर इतनी गुंजाइश तो है लेकिन बस गाली गलौच, मान मर्दन या एक दूसरे को नीचा दिखाने का मौक़ा नहीं मिलने वाला। जितनी गुंजाइश है उतने में खुल कर लिखिए। अपने विचार भेजिए। हमें बताइए हम और क्या बेहतर कर सकते हैं। कुल मिलाकर देश को फिर से उस रास्ते पर लाने की कोशिश कीजिए जहां अपनी बात कहने के लिए लड़ना न पड़े और किसी से डरना न पड़े।

अपने विचार आप हमें मेल कर सकते हैं। हम कोशिश करेंगे उनको झाड़ पोंछ कर अपनी दीवार पर लगा सकें…

[email protected]

[email protected]

Share